EPFO : पीएफ खाते में किए जा रहे योगदान से भी बन सकते हैं करोड़पति, जानें कैसे


हाइलाइट्स

ईपीएफओ में नियोक्ता और कर्मचारी हर महीने योगदान करते हैं.
सरकार पीएफ में जमा राशि पर इस वित्त वर्ष 8.1 फीसदी का सालाना ब्याज देगी.
लक्ष्य तक पहुंचने के लिए आपको खाते से आंशिक निकासी रोकनी होगी.

नई दिल्ली. हर आम आदमी चाहता है कि वह करोड़पति बने. अपने इस लक्ष्य तक पहुंचने के लिए वह मेहनत और तरकीब दोनों लगाता है. हालांकि, तब भी कई लोग अपना लक्ष्य हासिल नहीं कर पाते. लेकिन क्या आप जानते हैं कि सैलरी से कटने वाले पीएफ से भी आप करोड़पति बन सकते हैं.

आज हम आपको बताएंगे कि कैसे पीएफ में दिया गया आपका छोटा सा योगदान कैसे आपको करोड़पति बना सकता है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हर साल ईपीएफ में किए गए 1.50 लाख रुपये तक के योगदान पर कोई टैक्स नहीं लगता है. इसके अलावा 5 साल से अधिक तक योगदान करने के बाद मैच्योरिटी अमाउंट भी टैक्स के दायरे से बाहर हो जाता है.

ये भी पढ़ें- महंगाई रोकने के लिए विकास की नहीं चढ़ेगी बलि, आरबीआई गवर्नर ने कहा- ग्रोथ को ध्यान में रखकर बनेगी नीति

कैसे बनेंगे पीएफ से करोड़पति
अगर हम मान लें कि आपने 21 साल की उम्र में काम शुरू किया और आपकी बेसिक मासिक आय और डीए 25,000 रुपये है तो आप पीएफ खाते में 1 करोड़ रुपये के साथ रिटायर हो सकते हैं. मौजूदा ईपीएफओ नियमों के अनुसार, हर नियोक्ता को बेसिक सैलरी और डीए का 12 फीसदी पीएफ में डालना होता है. इतना ही अमाउंट कर्मचारी की सैलरी से भी हर महीने कटता है जिससे तैयार फंड को रिटायरमेंट के समय निकाला जाता है. नियोक्ता के 12 फीसदी में से 8.33 फीसदी पेंशन फंड की ओर जाता है और केवल 3.67 फीसदी ईपीएफओ में निवेश होता है.

सरकार ने पीएफ पर 2022-23 के लिए 8.1 फीसदी की वार्षिक ब्याज दर तय की हुई है. अगर आपको यही ब्याज दर मिलती रहती है और आप अपना पैसा रिटायरमेंट तक नहीं निकालते तो सेवानिवृत्ति के समय आपके अकाउंट में 1 करोड़ रुपये इकट्ठे हो जाएंगे.

ये भी पढ़ें- Business Idea : बंपर कमाई के लिए करें ‘रोशनी’ का बिजनेस, LED बल्‍ब की यूनिट लगाकर होगा लाखों का मुनाफा

सैलरी बढ़ने पर कितना बढ़ेगा फंड
अगर आप 21 से 60 साल की उम्र तक पीएफ फंड में निवेश करते हैं और आपको उस पर 8.1 फीसदी का सालाना ब्याज मिलता है तो 39 साल बाद आपके पास 1.35 करोड़ रुपये का फंड होगा. आपकी सैलरी अगर हर साल 5 फीसदी बढ़ती है तो यह 2.54 करोड़ रुपये हो जाएगा. 10 फीसदी की वार्षिक वृद्धि पर यह बढ़कर 6 करोड़ रुपये हो जाएगा. याद रखें कि यह सारी गणना मौजूदा ब्याज दर के आधार पर की गई है. इसमें समय-समय पर बदलाव होता रहता है. इसके अलावा आपको इस लक्ष्य तक पहुंचने के लिए बीच में कोई आंंशिक निकासी नहीं करनी होगी.

Tags: Business news, Business news in hindi, Earn money, Epfo, Money Making Tips



Source link

Leave a Comment

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.