Life Insurance | जीवन के हर मकसद के लिए लाइफ इंश्योरेंस


Life Insurance

  • बचत के साथ आर्थिक सुरक्षा और वेल्थ निर्माण

मुंबई: आज जीवन बीमा पॉलिसी (Life Insurance Policies) में निवेश पिछले कुछ दशकों के मुकाबले अलग हो गया है। पहले भारत में पारंपरिक रूप से जीवन बीमा को केवल बचत का साधन माना जाता था, लेकिन बदलती जीवन शैली में बढ़ती आर्थिक अनिश्चितता के कारण लोग अब इसे बचत माध्यम के साथ-साथ आर्थिक सुरक्षा (Financial Security) और वेल्थ निर्माण (Wealth Creation) की दृष्टि से भी महत्वपूर्ण समझने लगे हैं। इसलिए जीवन बीमा उत्पादों के विकास और उन्हें ज्यादा उपयोगी बनाए जाने की जरूरत भी बढ़ी है। 

इस जरूरत ने अनेक जीवन बीमा उत्पादों के विकास का मार्ग तैयार किया, जो ग्राहकों को विभिन्न विकल्पों जैसे शुद्ध बीमा पॉलिसी से लेकर बचत और ग्रोथ आदि के फायदे प्रदान करते हैं। इस लेख में हमने जीवन की विभिन्न परिस्थितियों और उनके लिए विकसित किए गए चार प्रमुख जीवन बीमा उत्पादों की चर्चा की है, जिनमें टर्म प्लान, बचत यूलिप, पारंपरिक बीमा और रिटायरमेंट प्लान शामिल हैं।

परिवार को आर्थिक संकट से बचाने के लिए ‘टर्म प्लान’

जब आप पर कोई कर्ज या होम लोन जैसी देनदारियां होती हैं और आप सुनिश्चित करना चाहते हैं कि इनके भुगतान का भार आपके परिवार पर न पड़े तो उस स्थिति में टर्म प्लान (Term Insurance Plan) सबसे अच्छा है। इस प्लान में आपके परिवार को वो पूरी राशि एकमुश्त मिल जाती है, जो आप वर्षों तक काम करके कमाएंगे। टर्म पॉलिसी के तहत पॉलिसी धारक की मृत्यु होने पर उसके परिवार को बीमा की पूरी राशि मिल जाती है और परिवार आर्थिक संकट से बच जाता है। यह बीमा राशि मौजूदा जीवनशैली बनाए रखने के लिए वित्तीय सुरक्षा प्रदान करती है और लोन बकाया रह जाने पर भी संपत्ति की सुरक्षा करता है। टर्म इंश्योरेंस का फायदा यह है कि इसका वार्षिक प्रीमियम कम होता है, जबकि इसमें कवर बड़ा खरीदा जा सकता है, लेकिन ग्राहकों को यह भी ध्यान रखना चाहिए कि यदि विशेष साल में टर्म इंश्योरेंस का क्लेम नहीं लिया जाता है तो इसमें पारंपरिक जीवन बीमा पॉलिसी की तरह बोनस अर्जित या प्राप्त नहीं होता। यह एक शुद्ध बीमा उत्पाद है, जिसका क्लेम केवल पॉलिसी धारक की मृत्यु होने पर ही लिया जा सकता है।

यह भी पढ़ें

बच्चों की उच्च शिक्षा, शादी के लिए ‘यूलिप’

पिछले कुछ वर्षों में यूलिप प्लान (ULIP Plan) लोकप्रिय हुए हैं। यूलिप पॉलिसी दो उद्देश्य पूरे करती हैं। एक तो ये बीमा और वित्तीय सुरक्षा का कवच प्रदान करती हैं, तो दूसरी ओर यह लॉन्ग टर्म में अच्छे रिटर्न के साथ वेल्थ बनाने वाला निवेश है। हालांकि इसमें बाजार की घट-बढ़ का कुछ जोखिम भी रहता है, लेकिन विगत दो दशकों का ट्रैक रिकॉर्ड देखा जाए तो लॉन्ग टर्म में निश्चित रूप से बैंक जमा दरों से अधिक रिटर्न (Return) (10-12 प्रतिशत से ज्यादा) यूलिप फंडों में मिला है। अपने नाम के मुताबिक ही ‘यूलिप’ यूनिट लिंक्ड लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी हैं, जिनमें पॉलिसी फंड का निवेश शेयर बाजार में किया जाता है, ताकि ग्राहकों को बाजार में होने वाली वृद्धि का फायदा भी मिले। यूलिप पॉलिसी भविष्य के खर्चों जैसे बच्चों की उच्च शिक्षा, विवाह, घर खरीदने के लिए उपयुक्त मानी जाती है। यूलिप निवेश द्वारा आपका पैसा बाजार के अनुरूप गति से बढ़ता रहता है और आप अपने निवेश पर मुद्रास्फीति (Inflation) के असर को कम करने में समर्थ बनते हैं। यह पॉलिसी कम जोखिम के साथ बाजार के अनुरूप रिटर्न देकर संपत्ति (वेल्थ) निर्माण करने का अच्छा तरीका है। यूलिप पॉलिसी विभिन्न राइडर्स की मदद से और ज्यादा उपयोगी बन जाती है, जो विकलांगता और गंभीर बीमारी, टर्म राइडर आदि द्वारा ज्यादा लाइफ कवर प्रदान करते हैं। बीमाधारक की मृत्यु होने पर इस पॉलिसी में डब्लूओपी राइडर (WoP Rider) द्वारा परिवार को प्रीमियम का भुगतान करने के भार से भी मुक्त करने का विकल्प भी है। यूलिप में नियमित पे-आउट (Regular Payouts) के विकल्प भी मिलते हैं, जो बोनस (Bonuses) के साथ निश्चित राशि प्रदान करते हैं।

निश्चित रिटर्न के लिए ‘पारंपरिक प्लान’

यदि आप पॉलिसीधारक की मौत होने पर परिवार के लिए एक निश्चित बीमा राशि सुनिश्चित करना चाहते हैं, तो ऐसे में बचत के लिए पारंपरिक बीमा (Traditional Insurance) का विकल्प भी सुरक्षित है। इसमें प्रीमियम ज्यादा होता है, लेकिन फंड निश्चित होते हैं। इस तरह की पॉलिसी तब उत्तम है जब आपके पास अन्य मार्केट लिंक्ड निवेश हों और आप ऐसा सुरक्षा कवच चाहते हों, जिस पर आपात स्थिति में आपका परिवार आश्रित हो सके। यह आपको अपने निवेश में स्थिरता प्रदान करता है और लाइफ कवर के साथ आपको बचत प्रदान करता है। आप विकलांगता एवं गंभीर बीमारी के राइडर, टर्म राइडर द्वारा ज्यादा लाइफ कवर आदि चुनकर इस पॉलिसी के फायदे बढ़ा सकते हैं। इस तरह की पॉलिसी एक डब्लूओपी राइडर के साथ आती है, जो विशेष मामलों में परिवार को प्रीमियम भुगतान के भार से मुक्ति प्रदान करता है। इस पॉलिसी की अवधि और रिटर्न नियत होते हैं और इन पॉलिसी को ऋण लेने के लिए जमानत (कोलैटरल) के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है क्योंकि इस पॉलिसी की पूरी राशि निश्चित होती है। पारंपरिक बीमा पॉलिसी में आमतौर पर 5 से 6 प्रतिशत का रिटर्न मिलता है।

अच्छी रिटायरमेंट लाइफ के लिए ‘रिटायरमेंट प्लान’

आज के समय में रिटायरमेंट के लिए एक योजनाबद्ध निवेश का महत्व किसी से छिपा नहीं है। जीवनशैली, मेडिकल खर्च, अच्छे स्वास्थ्य के लिए बढ़ते खर्चों के साथ एक अच्छा जीवन व्यतीत करने और रिटायरमेंट के बाद भी वित्तीय रूप से स्वतंत्र बने रहने के कारण रिटायरमेंट का प्लान बनाना बहुत जरूरी है। बीमा कंपनियों के रिटायरमेंट प्लान (Retirement Plan) इसमें काफी उपयोगी हैं। रिटायरमेंट प्लान से प्राप्त राशि से व्यक्ति जीवनसाथी मौजूद न होने पर भी एक सुरक्षित जीवन व्यतीत कर सकता है, मृत्यु होने तक गारंटीड आय प्राप्त कर सकता है और उसके पास भविष्य की पीढ़ियों के लिए अपनी विरासत छोड़कर जाने का विकल्प भी होता है। इस तरह की पॉलिसी में सबसे ज्यादा फायदा चक्रीय वृद्धि का मिलता है और इस पॉलिसी की योजना व्यक्ति द्वारा आय का अर्जन शुरू करते ही बना लेनी चाहिए। इससे आपको अपने कामकाजी जीवन में एक बड़ी राशि एकत्रित करने में मदद मिलेगी।

आर्थिक चिंताओं का समाधान : आशीष कुमार श्रीवास्तव

पीएनबी मेटलाइफ इंडिया इंश्योरेंस कंपनी (PNB Metlife India Insurance Company) के प्रबंध निदेशक और सीईओ आशीष कुमार श्रीवास्तव (Ashish Kumar Srivastava) का कहना है कि आज लाइफ इंश्योरेंस प्लान हर आयु वर्ग की जरूरत पूरी करते हैं। क्योंकि बीमा कंपनियां हर आयु वर्ग के लिए यानी पूरे परिवार के लिए विशिष्ट प्लान ऑफर करती हैं। बच्चों की उच्च शिक्षा या विवाह के खर्च की चिंता हो या परिवार को आर्थिक सुरक्षा प्रदान करने की चिंता हो अथवा रिटायरमेंट के बाद एक निश्चित आय की चिंता हो, इस तरह की सभी चिंताओं का समाधान लाइफ इंश्योरेंस में है। पहले लोगों में बीमा के प्रति जागरूकता कम थी, लेकिन कोविड संकट के कारण उत्पन्न हुए आर्थिक अनिश्चितता के माहौल की वजह से जागरूकता तेजी से बढ़ी है। अब टर्म, गारंटीड रिटर्न, यूलिप, रिटायरमेंट प्लान, सभी की मांग बढ़ रही है। अब तो बीमा कंपनियां विशिष्ट स्वास्थ्य बीमा प्लान भी ऑफर करने लगी हैं। पीएनबी मेटलाइफ पहली कंपनी है, जिसने डेंटल केयर प्लान लॉन्च किया है।

निश्चिंत जीवन की गारंटी : सुंदर नटराजन

इंडियाफर्स्ट लाइफ इंश्योरेंस कंपनी (IndiaFirst Life Insurance Company) के चीफ रिस्क ऑफिसर सुंदर नटराजन (Sunder Natrajan) का कहना है कि बीमा पॉलिसी में निवेश आपके ना रहने की स्थिति में परिवार को केवल सुरक्षा कवच देने के उद्देश्य से ही नहीं किया जाता है बल्कि बीमा पॉलिसियां इस तरह से डिजाइन की जाती हैं, जिनसे आप अपने जीवन में आर्थिक लक्ष्य प्राप्त कर सकते हैं। ये बीमा पॉलिसियां एक निश्चित अवधि के साथ आती हैं। यदि क्लेम न किया जाए, तो इन फंड को अलग-अलग समय पर विभिन्न खर्चों के लिए निकाला जा सकता है। बीमा पॉलिसियां जीवन के विभिन्न चरणों से गुजरते हुए जोखिम को कम करने और मुद्रास्फीति का असर समाप्त करने का बेहतरीन तरीका हैं। इन पॉलिसी में निवेश कर अपने वित्तीय लक्ष्यों की नियमित तौर से समीक्षा करते रहें, ताकि आप पॉलिसी को अपनी जरूरतों के अनुरूप समायोजित कर सकें। याद रखें अच्छा जीवन वही है, जो बीमा द्वारा सुरक्षित है!





Source link

Leave a Comment

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.