SBI Annuity Scheme : एक बार पैसे जमाकर हर महीने पाएं निश्चित रिटर्न, कैसे काम करती है एसबीआई की यह धांसू योजना


नई दिल्‍ली. सभी बैंक अपनी जमा ब्‍याज दरों में इजाफा कर रहे हैं. ऐसे में देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई ने अपने ग्राहकों के लिए एक खास स्‍कीम पेश की है. SBI Annuity Deposit Scheme में निवेशक एक बार पैसा लगाकर हर महीने निश्चित रकम पा सकते हैं.

यह योजना ऐसे निवेशकों के लिए काफी कारगर है, जिन्‍हें रिटायरमेंट या अन्‍य किसी स्‍कीम से एकमुश्‍त पैसा मिलता है. योजना के तहत एसबीआई आपको हर महीने तय रकम लौटाएगा, जिसमें आपकी ओर से जमा किए गए पैसे के अलावा उस पर मिलने वाला ब्‍याज भी शामिल होगा. आपको इस योजना में बस एक बार ही निवेश करना होगा, जिसकी अधिकतम रकम की कोई सीमा नहीं है.

ये भी पढ़ें – 3000 फीसदी का डिविडेंड देगी यह कंपनी, 30 जून है एक्स-डिविडेंड की तारीख, क्या आपके पास हैं शेयर?

वरिष्‍ठ नागरिकों को मिलेगा अतिरिक्‍त ब्‍याज
वैसे तो इस खाते को नाबालिग सहित कोई भी भारतीय नागरिक खोल सकता है. खाता ज्‍वाइंट या सिंगल कस्‍टमर के रूप में खोला जा सकता है. एसबीआई की वेबसाइट के मुताबिक, एनआरओ अथवा एनआरआई को यह खाता खुलवाने की अनुमति नहीं होगी. अगर वरिष्‍ठ नागरिक इस योजना में निवेश करते हैं तो उनको सामान्‍य निवेशकों की तुलना में अधिक ब्‍याज का भुगतान किया जाएगा.

इस योजना में पैसे लगाने के लिए निवेशकों के पास बचत, चालू या ओवरड्राफ्ट खाता होना चाहिए. हालांकि, उन्‍हीं खातों का चुनाव योजना के लिए किया जाएगा जो पूरी तरह ऑपरेशन में होंगे. साथ ही इन खातों में इंटरनेट बैंकिंग की सुविधा भी होनी चाहिए और अकाउंट न तो लॉक हो न ही किसी कारण से हॉल्‍ट किया गया हो.

ये भी पढ़ें – काम की बात : कैसे सुरक्षित रखें अपने ऑनलाइन अकाउंट्स और फाइनेंशियल डेटा?

10 साल तक की है स्‍कीम
SBI Annuity Scheme बैंक के सभी ब्रांच पर उपलब्‍ध है और यह 36, 60, 84, 120 महीने के टेन्‍योर के लिए होगी. यानी कि योजना में 3 साल से लेकर 10 साल की एन्‍युटी का चुनाव कर सकते हैं. इसमें न्‍यूनतम निवेश की गणना हर महीने कम से कम 1,000 रुपये की एन्‍युटी के हिसाब से की जाती है. यह योजना में चुनी गई अवधि पर भी निर्भर करती है.

ऑनलाइन और ऑफलाइन जमा के अलग-अलग नियम
योजना की सबसे खास बात ये है कि इसमें ऑनलाइन जमा और ऑफलाइन पैसे जमा करने के अलग-अलग नियम हैं. अगर कोई निवेशक ऑनलाइन ट्रांजेक्‍शन के जरिये योजना में पैस लगाना चाहता है तो उसी अधिकतम जमा लिमिट वही रहेगी जो सामान्‍य तौर पर ऑनलाइन पैसे भेजने की रहती है. हालांकि, अगर आप ऑफलाइन मोड से पैसे जमा कराते हैं तो इसकी कोई सीमा नहीं है.

ये भी पढ़ें – वित्‍त मंत्रालय का अनुमान- महंगाई तो काबू आ जाएगी पर अर्थव्‍यवस्‍था में आ सकती है सुस्‍ती

ब्‍याज एफडी से ही निर्धारित होगा
एसबीआई इस योजना पर ब्‍याज अपनी एफडी के जरिये ही निर्धारित करेगा. बैंक ने 14 जून को एफडी का ब्‍याज बढ़ा दिया है और अभी 3 से 10 साल वाली एफडी पर 5.50 फीसदी तक ब्‍याज देता है. इसमें वरिष्‍ठ नागरिकों को 5.95 फीसदी से 6.30 फीसदी तक ब्‍याज दिया जाता है. एफडी की तरह ही यहां भी ब्‍याज पर टीडीएस लागू होगा. इससे बचने के लिए आपको पैन कार्ड की डिटेल पेश करनी पड़ेगी.

खाते पर मिलती हैं ये सुविधाएं
इस खाते पर एसबीआई ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी भी देता है. खाते में जमा राशि का 75 फीसदी ओवरड्राफ्ट के रूप में लिया जा सकता है. यह शादी, इलाज या पढ़ाई जैसी जरूरतों में ही निकाला जा सकेगा. अगर किसी निवेशक की मृत्‍यु हो जाती है तो उसके खाते में जमा 15 लाख रुपये तक की राशि की प्री-मेच्‍योर निकासी हो सकती है. अन्‍य किसी परिस्थिति में निकालने पर जुर्माना देना होगा. यह एफडी की ही तरह लागू होगा जो 5 लाख से ज्‍यादा की रकम पर अभी 1 फीसदी है. इतना ही नहीं आपको निकासी पर सामान्‍य से एक फीसदी कम ब्‍याज भी दिया जाएगा.

Tags: Bank FD, Bank interest rate, Investment tips, SBI Bank



Source link

Leave a Comment

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.