Stock Market | अडानी, टाटा, अंबानी, बजाज इन्वेस्टर वेल्थ बनाने में सबसे आगे


अडानी, टाटा, अंबानी, बजाज इन्वेस्टर वेल्थ बनाने में सबसे आगे

  • बड़े ग्रुप की कंपनियों में निवेश काफी हद तक सुरक्षित

मुंबई: बड़े औद्योगिक समूह देश की अर्थव्यवस्था (Economy) में अपना महत्वपूर्ण योगदान देने के साथ शेयर बाजार (Stock Market) में लिस्टेड अपनी कंपनियों के द्वारा आम निवेशकों (Investors) को बढ़िया कमाई करवाकर उनकी वेल्थ (Wealth) भी बनाते हैं यानी उन्हें मालामाल करते हैं। इसी कारण व्यक्तिगत या संस्थागत, हर निवेशक की पहली पसंद बड़े औद्योगिक समूह की कंपनियों के शेयर होते हैं। इस भरोसे का एक बड़ा कारण यह है कि बड़े ग्रुप की एक विरासत होती है। कई दशकों का लंबा ट्रैक रिकॉर्ड होता है। जैसे टाटा, बिरला, बजाज और गोदरेज ग्रुप का एक सदी से भी ज्यादा का भरोसेमंद इतिहास है। 

आमतौर पर बड़े ग्रुप की कोई कंपनी पूरी डूबती नहीं है। यदि किन्हीं कारणों से कोई कंपनी संकट में भी आती है तो ग्रुप के पास उसे झेलने की ताकत होती है। अपने भारी संसाधनों के बल पर बड़ा ग्रुप अपनी वित्तीय संकट में फंसी कंपनी को फिर से पटरी पर लाने में सफल हो जाता है। इसलिए बड़े ग्रुप की कंपनियों में निवेश (Invest) काफी हद तक सुरक्षित माना जाता है। इसी कारण हर समझदार निवेशक पहले बड़े ग्रुप की कंपनियों में ही ज्यादा निवेश करना पसंद करता है।

तेजी-मंदी के बाद सेंसेक्स में 9.5% रिटर्न

enavabharat.com ने इस लेख में 7 बड़े ग्रुप की बड़ी कंपनियों के विगत 12 महीनों के प्रदर्शन का विश्लेषण किया है। ये ग्रुप हैं टाटा (Tata), आदित्य बिरला (Aditya Birla), बजाज (Bajaj), गोदरेज (Godrej), अंबानी (Ambani), अडानी (Adani) और महिंद्रा (Mahindra)। इन 12 महीनों (अगस्त 21 से जुलाई 22) के दौरान बेंचमार्क की तुलना में काफी अच्छा रिटर्न (Good Return) प्रदान करने में अडानी, टाटा, अंबानी और बजाज ग्रुप सबसे आगे हैं। जबकि महिंद्रा और आदित्य बिरला ग्रुप का प्रदर्शन मिला-जुला रहा है, लेकिन गोदरेज ग्रुप की सभी कंपनियों ने निवेशकों को निराश किया है। हालांकि आगे इनमें तेजी की उम्मीद की जा सकती है। विगत 12 महीनों के दौरान शेयर बाजार में भारी तेजी और फिर मंदी भी आई। तेजी-मंदी के बाद इस अवधि में जहां बीएसई सेंसेक्स (Bse Sensex) 52,586 अंक से बढ़कर 57,570 अंक पर पहुंचा, वहीं एनएसई निफ्टी (Nse Nifty) 15,763 अं‍क से बढ़ता हुआ 17,158 अंक पर पहुंचा। इस तरह सेंसेक्स ने 9.5% और निफ्टी ने 8।8% का रिटर्न दिया। जबकि बीएसई मिडकैप (Bse Midcap) का रिटर्न सिर्फ 4% ही रहा है। इन बड़े ग्रुप की कंपनियां सेंसेक्स, निफ्टी और मिडकैप में ही शामिल हैं।

अडानी ग्रुप ने दिया छप्पर फाड़ रिटर्न

विभिन्न उद्योग क्षेत्रों में तेजी से आगे बढ़ रहे अडानी ग्रुप का मार्केट कैप (Market Capitalization) 17.60 ट्रिलियन रुपए तक पहुंच गया है। गौतम अडानी (Gautam Adani) के नेतृत्व वाली सभी कंपनियां भले ही ज्यादा प्रॉफिट नहीं कमा रही है, लेकिन इनके शेयर सबसे तेज गति से दौड़ रहे हैं और निवेशकों की वेल्थ बना रहे हैं। पिछले 12 महीनों में ग्रुप की 5 कंपनियों ने तो 79% से लेकर 246% का छप्पर फाड़ रिटर्न दिया है। अडानी ग्रुप पर सरकार से विशेष ‘मेहरबानी’ प्राप्त होने का आरोप भी लगता रहा है, लेकिन इन बातों से बेपरवाह अडानी ग्रुप जोरदार रिटर्न प्रदान कर निवेशकों का पसंदीदा बनता जा रहा है। सभी 7 कंपनियों में बंपर कमाई के बाद ग्रुप की 8वीं कंपनी अडानी विल्मर (Adani Wilmar) ने अपने आईपीओ (IPO) में भी 200 प्रतिशत का जबरदस्त रिटर्न दिया है। अडानी विल्मर का शेयर 230 रुपए के आईपीओ मूल्य के सामने अब 700 रुपए के आस-पास चल रहा है।   

यह भी पढ़ें

टाटा ग्रुप के लाखों निवेशक खुशहाल

देश के सबसे प्रतिष्ठित समूह टाटा ग्रुप नए अध्यक्ष नटराजन चंद्रशेखरन (Natarajan Chandrasekaran) की लीडरशिप में ना केवल तेज ग्रोथ कर रहा है, बल्कि बढ़िया रिटर्न प्रदान कर अपने लाखों निवेशकों को खुशहाल भी बना रहा है। विगत 12 महीनों में ग्रुप की बड़ी कंपनियों में अधिकांश ने निवेशकों को काफी अच्छी कमाई कराई है। ग्रुप की 5 कंपनियों ने तो 18% से लेकर 106% का अच्छा रिटर्न दिया है। हमेशा विवादों से दूर रहने वाले और सबसे ज्यादा परोपकार कार्य करने वाले टाटा ग्रुप का मार्केट कैप 20 ट्रिलियन रुपए के रिकॉर्ड स्तर के पार हो गया है।

अंबानी और बजाज ग्रुप में तेजी कायम

मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के नेतृत्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) ऑयल-गैस, पेट्रोकेमिकल्स, टेक्सटाइल, टेलिकॉम, रिटेल सहित विविध उद्योग क्षेत्रों में कार्यरत है और इन क्षेत्रों में शीर्ष पर है। अंबानी ग्रुप की यह विशालकाय कंपनी कई बड़ी कंपनियों के बराबर है। इसके शेयर ने विगत 12 महीनों में 21% का फायदा दिया है। 17।40 ट्रिलियन रुपए के मार्केट कैप के साथ रिलायंस इंडस्ट्रीज सेंसेक्स व निफ्टी में सबसे ज्यादा वेटेज रखती है। जबकि 8.70 ट्रिलियन रुपए से अधिक मार्केट कैप के साथ बजाज ग्रुप चौथे स्थान पर है। राजीव बजाज (Rajiv Bajaj) और संजीव बजाज (Sanjiv Bajaj) के नेतृत्व में प्रगति करते हुए बजाज ग्रुप निवेशकों को अच्छा रिटर्न प्रदान कर रहा है। बजाज ग्रुप की 4 कंपनियों ने 2% से लेकर 32% का फायदा निवेशकों को प्रदान किया है।   





Source link

Leave a Comment

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro

Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.